आज की खबर आज
Uncategorized

ज्यादा से ज्यादा टेस्ट्स के इंतजाम किए जा रहे

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस के संदिग्ध पेशेंट्स का टेस्ट करने के लिए 111 लैब्स आॅपरेशनल हो गई हैं। शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्र सरकार ने यह जानकारी दी। ज्वाइंट सेक्रेट्री लव अग्रवाल ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट्स करने की व्यवस्था हो रही है। उन्होंने कहा कि आज से 111 लैब्?स पूरे देश में आॅपरेट करना शुरू कर रही हैं। अग्रवाल ने कोरोना वायरस पर अफवाहों से बचने की अपील की। उन्होंने कहा कि ये बहुत जरूरी है कि लोगों को सही जानकारी मिले। उन्होंने हाइजीन मेंटेन रखने की भी अपील की। मंत्रालय ने कहा कि शनिवार को रोम से 262 लोग भारत के लिए रवाना होंगे। इनमें अधिकतर स्टूडेंट्स हैं।
हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 1,000 जगहों पर क्रिटिकल केयर मैनेजमेंट की ट्रेनिंग दी गई है। मंत्रालय के मुताबिक, कन्फर्म मामलों के बिना लक्षण वाले डायरेक्ट, हाई-रिस्क कॉन्टैक्ट्स को संपर्क में आने के 5-14 दिन के बीच एक बार टेस्ट जरूर किया जाना चाहिए। सरकारी अस्पतालों में 22 मार्च को कोरोना वायरस केसेज को हैंडल करने के लिए मॉक ड्रिल कराई जाएगी। हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा कि मास्क को लेकर बहुत सारी गलत जानकारियां आ रही हैं। सबको मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग ज्यादा जरूरी है।
ऐसे लोग जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण हों, वे आई-ब्रूफेन ना लें, इसकी जगह पेरासिटामोल का इस्तेमाल करें। फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री के इस दावे का समर्थन विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी किया है। संयुक्त राष्ट्र के इस स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों ने कहा है कि वे इस पर आगे भी निर्देश जारी करेंगे। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि सैनिटाइजर्स, मास्क को इसेंशियल कमोडिटीज की लिस्ट में डाला गया है। इनके दाम तय कर दिए गए हैं और कंपनियां अब उन्हीं रेट्स को नए प्रोडक्ट्स पर प्रिंट करेंगी। इसके अलावा, मंत्रालय ने लोगों से पैनिक बाइंग से बचने का आग्रह किया। मंत्रालय की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद पवन अग्रवाल ने कहा कि लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। सरकार ने कहा कि जरूरी वस्तुओं, मास्क और सैनिटाइजर्स की देश में कोई कमी नहीं है। अधिकारी ने कहा कि मास्क और सैनिटाइजर्स का प्रोडक्शन बढ़ाने पर सरकार काम कर रही है। राज्यों से कहा गया है कि वे डियोडरेंट मैनुफैक्चरर्स को सैनिटाइजर्स बनाने की इजाजत दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *