आज की खबर आज
National

कमलनाथ की विदाई, 15 महीने बाद फिर लौटेंगे शिवराज?

भोपाल। मध्य प्रदेश का सियासी नाटक 17 दिन बाद खत्म हो गया है. फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया. इस्तीफे के ऐलान से पहले कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी याद रखे कि कल और परसों भी आएगा. सब सच्चाई सामने आएगी.
बीजेपी पर कई आरोप लगाते हुए कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने 22 विधायकों को बंधक बनाया और ये पूरा देश बोल रहा है. करोड़ों रुपये खर्च कर खेल खेला जा रहा है. एक महाराज और उनके 22 साथियों के साथ मिलकर साजिश रची. इसकी सच्चाई थोड़े समय में सामने आएगी.
मप्र में अब नई बीजेपी सरकार के गठन की आहट शुरू हो गई है। फिलहाल अभी तक तो शिवराज सिंह चौहान का ही नाम सबसे आगे चल रहा है। लेकिन पार्टी नेता किसी का भी नाम लेने से बच रहे हैं। पार्टी नेताओं की मानें तो बीजेपी आलाकमान ही इस बारे में फैसला करेगा। फिलहाल ऐसे वक्त पर शिवराज सिंह चौहान के सरकार बनाने की पूरी उम्मीद है। दूसरा बड़ा नाम है केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का। नरोत्तम मिश्रा और गोपाल भार्गव के नाम भी मुख्यमंत्री पद की रेस में हैं.
सीएम कमलनाथ ने कहा बीजेपी की ओर से जनता के साथ विश्वासघात किया जा रहा है और लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है, जनता इन्हें कभी माफ नहीं करेगी. कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने मेरे कार्यकाल के दौरान हमारे कार्यों के खिलाफ साजिश की, पहले दिन से ये लोग हमारी सरकार गिराना चाहते थे.
इस्तीफे के ऐलान से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनवाया और कहा कि हमने आम लोगों के लिए काम किया, लेकिन ये भाजपा को रास नहीं आया. हमारी सरकार पर किसी तरह का आरोप नहीं लगा. बीजेपी ने किसानों के साथ धोखा किया लेकिन हमें उनके लिए काम नहीं करने दिया.
इससे पहले कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिसमें से 6 विधायकों का इस्तीफा स्पीकर ने स्वीकार कर लिया था और 16 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था. बीजेपी ने सरकार से सदन में बहुमत साबित करने की मांग की थी, लेकिन मांग को दरकिनार करते हुए स्पीकर ने 26 मार्च तक सदन को स्थगित किया गया था.
इसके बाद बीजेपी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी और तुरंत फ्लोर टेस्ट की मांग की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को स्पीकर को फटकार लगाई थी और 16 बागी विधायकों के इस्तीफे ना स्वीकारने का कारण पूछा और आज शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था. इसके बाद स्पीकार ने सभी 16 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया.
विधायकों का इस्तीफा स्वीकार होने के बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई. अब कमलनाथ सरकार के पास सिर्फ 99 विधायक हैं, जबकि बहुमत के लिए 104 का आंकड़ा चाहिए. फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया है. यानी मध्य प्रदेश से कांग्रेस सरकार की विदाई हो गई है.

Join the discussion

  1. vurtil opmer

    Good article and right to the point. I am not sure if this is really the best place to ask but do you folks have any thoughts on where to get some professional writers? Thank you 🙂

    http://www.vurtilopmer.com/

  2. smore traiolit

    Magnificent beat ! I wish to apprentice while you amend your site, how can i subscribe for a blog website? The account helped me a acceptable deal. I had been tiny bit acquainted of this your broadcast provided bright clear idea

    http://www.smoretraiolit.com/

  3. home decor

    Hi there! This post couldn’t be written any better! Reading through this post reminds me of my previous room mate! He always kept talking about this. I will forward this article to him. Pretty sure he will have a good read. Thank you for sharing!

    http://www.miniatureluxuries.com

  4. additional hints

    Hello. impressive job. I did not expect this. This is a fantastic story. Thanks!

    https://www.timinghealth.com

  5. erjilo pterin

    so much superb info on here, : D.

    http://www.erjilopterin.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *