आज की खबर आज
National

अवैध फैक्ट्री में थे बिहार-यूपी के कई मजदूर

नई दिल्ली। दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में लगी भीषण आग में 43 लोगों की मौत हो गई है। इनमें से अधिकतर मजदूर थे, जो इस इमारत में चल रही छोटी-छोटी फैक्ट्रियों में काम करते थे। मौके पर मौजूद स्थानीय लोगों के मुताबिक, अधिकतर मजदूर बिहार और उत्तर प्रदेश के थे। कोई स्कूली बैग बनाता था तो कोई पैकेजिंग का काम करता था। कल मजदूरों ने दिनभर काम के बाद बिस्तर पकड़ा, लेकिन इनमें से अधिकतर फिर सुबह नहीं देख पाए।
इमारत में काम करने वाले अधिकतर मजदूर रात को यहीं सोते भी थे। एक-एक कमरे में 10-15 लोग रहते थे। ये दिनभर यहां काम करते थे और शाम को जिसे जहां जगह मिली रात काट लेता था। रोजी-रोटी की तलाश में अपना घरबार छोड़कर दिल्ली आए ये लोग संकरी गली में मौजूद इस मकान में बेहद खराब स्थिति में रह रहे थे। बताया जा रहा है कि रिहाइशी इलाके में ये फैक्ट्रियां अवैध तरीके से चल रही थीं। इसके लिए तमान नियम-कानून को दरकिनार किया गया था। आग बुझाने के दौरान मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड के अधिकारी ने बताया कि अग्निश्मन विभाग से भी एनओसी नहीं ली गई थी। पुलिस इमारत के मालिक की तलाश में है। फिलहाल उसके भाई को हिरासत में लिया गया है।
अनाज मंडी से निकाले गए लोगों को कई अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घायलों को एलएनजेपी, आरएमएल, लेडी हार्डिंग, सफदरजंग, हिंदू राव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लोग अपनों की तलाश में इस अस्पताल से उस अस्पताल भाग रहे हैं। अस्पतालों में बड़ी संख्या में पीड़ितों के रिश्तेदार पहुंच रहे हैं। इनमें अधिकतर लोग बिहार और यूपी के हैं। मौके पर पहुंचे केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष से जब पूछा गया कि अधिकतर मजदूर पूर्वांचल के थे तो पुरी ने कहा कि जो भी परिवार प्रभावित हैं, चाहे वे यूपी या बिहार से हों, सभी हमारे भाई हैं। हम अभी सहायता में जुटे हैं।

Join the discussion

  1. ปั้มไลค์

    Like!! I blog frequently and I really thank you for your content. The article has truly peaked my interest.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *