आज की खबर आज
International

उइगर मुसलमानों पर अमेरिका ने कहा, दुनिया क्यों चुप है?

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के नए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने चीन द्वारा बंदी शिविरों में दस लाख से अधिक मुस्लिमों को रखने को लेकर दुनिया की चुप्पी की आलोचना की है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ’ब्रायन ने यह भी सवाल किया कि अगर चीन हॉन्ग कॉन्ग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों पर थियानमेन चौक जैसी कार्रवाई करेगा तो क्या अंतरराष्ट्रीय नेता उसके खिलाफ खड़े होंगे। चीन में उइगर मुसलमानों पर होने वाले अत्याचार को लेकर दुनिया भर में अकसर चर्चा होती रहती है।
ओ’ब्रायन ने पत्रकारों से मुलाकात की और उनसे कहा कि दुनिया कहां है? बंदी शिविरों में दस लाख से अधिक लोग रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं रवांडा में जनसंहार संग्रहालय में गया था। आपने सुना होगा कि यह ऐसा दोबारा कभी नहीं होगा और इसके बावजूद दस लाख से अधिक लोग बंदी शिविरों में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस पर मुस्लिम देशों की चुप्पी भी काफी हैरान करने वाली है। ऐसा अनुमान है कि चीन ने जेल जैसे बंदी शिविरों में 10 लाख से अधिक अल्पसंख्यक मुस्लिम उइगरों को बंद कर रखा है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही कुछ दस्तावेज लीक हुए थे। इनसे पता चला था कि उइगर मुस्लिमों को किस प्रकार उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा है। लीक डॉक्युमेंट के मुताबिक चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने खुद ही आदेश जारी करके कहा था कि चरमपंथ और अलगाववाद पर कोई रहम न किया जाए।

Join the discussion

  1. ปั้มไลค์

    Like!! Really appreciate you sharing this blog post.Really thank you! Keep writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *