आज की खबर आज
National

दिल्ली पुलिस-वकीलों का झगड़ा सुलझा?

नई दिल्ली। पिछले 12 दिनों से काम का बहिष्कार कर रहे जिला अदालतों के वकील आज से अपने काम पर लौट रहे हैं। कल शाम को वकीलों ने अपनी हड़ताल स्थगित करने का ऐलान किया। जिन दो पुलिसवालों की गिरफ्तारी की मांग वकील कर रहे थे, उन्हें हाई कोर्ट ने इस दिन गिरफ्तारी से अंतरिम राहत दे दी है। जिला अदालतों के वकील संगठनों की को-आॅर्डिनेशन कमिटी ने शाम को अपने सदस्यों के साथ बैठक में यह फैसला लिया।
ंकमिटी अध्यक्ष महावीर शर्मा और सेक्रेटरी जनरल धीर सिंह कसाना की ओर से वकीलों को संदेश भेजकर फैसले की जानकारी दी गई। इसमें पदाधिकारियों ने कहा गया कि हम माननीय हाई कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं। इसीलिए हड़ताल स्थगित की जाती है। शनिवार से काम शुरू कर दिया जाएगा। हम सभी सदस्यों के सहयोग के लिए उनका आभार व्यक्त करते हैं। ऐडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट के लिए हमारी लड़ाई जारी रहेगी। वकीलों का यह फैसला तब सामने आया जब दो पुलिसवाले हाई कोर्ट से अंतरिम संरक्षण पाने में कामयाब रहे, जिनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर वकील 4 नवंबर से हड़ताल पर थे। पवन कुमार और कांता प्रसाद नाम के इन दो पुलिसवालों पर 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर कथित तौर पर गोली चलाने का आरोप है।
हाई कोर्ट से मिले निर्देश पर पुलिस ने इनके खिलाफ हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज किया है। वकील इनकी गिरफ्तारी की जिद पर अड़े थे, तो पुलिस अधिकारी न्यायिक जांच की रिपोर्ट आने तक इंतजार करने के लिए कह रहे थे। इस तनातनी के बीच पिछले 12 दिनों से वकील और पुलिसवालों के बीच यह विवाद चल था। हड़ताल से उत्तर प्रदेश का उन्नाव रेप केस और बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन शोषण जैसे मामलों की कार्यवाही भी अधर में लटक गई, जिनमें फैसलों के लिए सुप्रीम कोर्ट से डेडलाइन तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *