आज की खबर आज
National

नेशनल हेराल्ड की खबर पर माफी मांगे कांग्रेस-संबित

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर कांग्रेस से जुड़े अखबार नेशनल हेराल्ड की एक रिपोर्ट को लेकर बीजेपी ने तीखा हमला बोला है। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अखबार में एक लेख लिखकर कहा गया है कि यह फैसला हमें पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट की याद दिलाता है, यह बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस पार्टी ने अयोध्या विवाद पर अदालत के फैसले का स्वागत किया था। इसके अलावा राहुल गांधी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की थी। हालांकि खुद से जुड़े अखबार में छपे लेख के चलते वह घिरती नजर आ रही है।
संबित पात्रा ने कहा कि अखबार कहता है कि सुप्रीम कोर्ट ने वही फैसला लिया, जैसा विश्व हिंदू परिषद और बीजेपी चाहती हैं। भारत के सर्वोच्च न्यायालय और न्याय प्रणाली से अच्छी जुडिशरी कहीं नहीं है, लेकिन जिस तरह से सवाल उठाए गए उस पर धिक्कार है। लेखक आकार पटेल के इस आर्टिकल में अप्रत्यक्ष तौर पर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा गया है कि सभी तानाशाहों ने लीगल कवर के तहत ही काम किया है। हमने देखा था कि कैसे जनरल मुशर्रफ ने भी कोर्ट के ठप्पे के जरिए ही काम किया था।
संबित पात्रा ने कांग्रेस से माफी की मांग करते हुए कहा कि अखबार कहता है कि इस फैसले के परिणाम भविष्य में देखने को मिलेंगे, भले ही फिलहाल शांति हो। उन्होंने कहा कि ऐसा लिखना सीधे तौर पर भारत को धमकी है। बीजेपी लीडर ने कहा कि दोनों समुदायों ने इस फैसले का समर्थन किया है, लेकिन कुछ लोग इस शांति और सौहार्द्र को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं, यह धिक्कार योग्य है। इसके साथ ही संबित पात्रा ने पाकिस्तान की ओर से करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के मौके पर सिद्धू के भाषण पर भी हमला बोला। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से चीफ गेस्ट बनते हैं। वह भारत के जत्थे के साथ नहीं जाते हैं बल्कि अलग से जाते हैं। पाकिस्तान की ओर से उन्हें 001 नंबर का कार्ड मिलता है यानी वह अतिथि होते हैं। वह इमरान के गीत गाते हैं। पात्रा ने कहा कि पाकिस्तान जाकर सिद्धू कहते हैं कि मैं 14 करोड़ सिखों की ओर से कहते हैं कि मैं दिल नजराना लेकर आया हूं। यही नहीं इमरान खान को वह शहंशाह करार देते हैं। इमरान खान को वह बब्बर शेर भी करार देते हैं। वह कहते हैं कि बाजवा को वह सौ-सौ झप्पियां भेजूंगा। एक बार झप्पी भेजने पर पुलवामा में अटैक हुआ और यदि सौ बार भेजेंगे तो क्या होगा।

Join the discussion

  1. ปั้มไลค์

    Like!! I blog quite often and I genuinely thank you for your information. The article has truly peaked my interest.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *