आज की खबर आज
Agra

प्रशिक्षण पाकर परम्परागत कारीगर हो रहे आत्मनिर्भर

आगरा। प्रदेश सरकार की सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम नीति के अन्तर्गत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के स्थानीय पारम्परिक दस्तकारों, कारीगरों को उद्यम आधारित कौशल वृद्धि का प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार लगाने के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना उप्र सरकार ने संचालित की है। योजना में पारम्परिक शिल्प के कारीगरों, दस्तकारों को छह दिनों की मुफ्त ट्रेनिंग दी जाती है। प्रशिक्षण के दौरान कारीगरों के रहने, खाने आदि की व्यवस्था प्रदेश सरकार द्वारा की जाती है। प्रशिक्षण लेने के लिए उप्र के मूल निवासी 18 वर्ष से अधिक आयु वाले अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं। इसके अन्तर्गत पारम्परिक दस्तकार, कारीगर यथा बढ़ई, दर्जी, टोकरी बनाने, बुनकर, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची, राजमिस्त्री, हस्तशिल्पी, आदि शिल्प में परिवार का एक सदस्य प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है।
प्रशिक्षण अवधि में अर्धकुशल श्रमिक के मजदूरी दर पर मानदेय भी दिया जाता है। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद प्रशिक्षणार्थियों को संबंधित ट्रेड्स के आधुनिक/उन्नत किस्म के टूल किट्स भी नि:शुल्क दिये जाते हैं। यदि प्रशिक्षण प्राप्त कोई इच्छुक लाभार्थी बैंक से ऋण लेकर अपना व्यवसाय/उद्यम करना चाहता है तो उसे मार्जिन मनी ऋण की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाती है।

चयनित अभ्यर्थियों का प्रवेश 16 तक
आगरा। राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के प्रधानाचार्य आशीष दुबे ने अवगत कराया है कि प्रवेश सत्र-2019 के लिए जनपद के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में रिक्त रह गयी सीटों पर प्रवेश को इच्छुक गैर चयनित अभ्यर्थी अपना आॅनलाइन आवेदन पत्र एवं रैंक की प्रति संस्थान में 14 सितम्बर को सायं पांच बजे तक जमा कर सकते हैं। उन्होंने बताया है कि राज्य व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद के निर्देशानुसार चयनित अभ्यर्थियों की सूची संस्थानों के नोटिस बोर्ड पर दिनांक 16 सितम्बर को प्रात: नौ बजे चस्पा होगी। सूची में चयनित अभ्यर्थियों को दिनांक 16 सितम्बर को अपराह्न चार बजे तक प्रवेश लेना अनिवार्य होगा। इसके उपरान्त प्रवेश पर विचार करना सम्भव नहीं होगा।

मत्स्य पालन पट्टों के लिए शिविर 16 को

आगरा। मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मत्स्य पालक विकास अभिकरण ने जनपद के समस्त मत्स्य पालकों को सूचित किया है कि तहसील सदर के अन्तर्गत ग्राम सभाओं में आने वाले तालाबों/पोखरों की नीलामी/पट्टा शिविर 16 सितम्बर को प्रात: 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक आयोजित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि राजस्व ग्राम बमरौली कटारा, लालऊ, अभयपुरा, खलौआ, मलपुरा, सिरौली, लड़ामदा, वाईखेड़ा, बरारा व अरतौनी के तालाबों का दस वर्षीय मत्स्य पालन पट्टा प्राप्त करने के इच्छुक व्यक्ति शिविर में प्रतिभाग कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए कार्यालय, सहायक निदेशक मत्स्य, आगरा (9917705297) से सम्पर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *