आज की खबर आज
Agra

स्मारकों के निकट अवैध निर्माण हो रहे धड़ल्ले से

  • शिकायतों पर भी कार्रवाई नहीं कर रही थाना पुलिस
  • सिकंदरा के बाद ताजगंज थाने पर भी अनदेखी के आरोप

आगरा। शहर की पुलिस ने अवैध निर्माणों की तरफ आंखें मूंद ली हैं। शिकायत पर भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। यह हाल सामान्य अतिक्रमणों को लेकर ही नहीं ऐतिहासिक इमारतों को लेकर भी है। पिछले दिनों सिकंदरा पुलिस पर स्मारकों के निकट अवैध निर्माणों की अनदेखी करने का आरोप लगा था, अब ताजगंज पुलिस पर भी इसी तरह के आरोप लगे हैं।
दोनों ही थानों की पुलिस द्वारा लिखित शिकायतों को भी ताक पर उठाकर रख दिया गया है। थाना ताजगंज प्रभारी ताजमहल के निकट अवैध निर्माण की शिकायतों को करीब बीस दिन से दबाये पड़े हैं। यह शिकायत ताजमहल के संरक्षण सहायक अंकित नामदेव द्वारा की गई। थाना स्तर पर कार्रवाई न होने पर एएसआई ने अब वरिष्ठ अधिकारियों से सम्पर्क साधना शुरू कर दिया है।
संरक्षण सहायक अंकित नामदेव ने बीस दिन पहले ताजमहल के पूर्वी प्रवेश द्वार के नजदीक निषिद्ध क्षेत्र में आरएल कलर लैब के बराबर में लकड़ी का फ्रेम लगाकर अवैध निर्माण करने पर संजीव गहलौत व राजेश शर्मा के खिलाफ ताजगंज थाने में तहरीर दी थी। इसी दिन दीवान जी बेगम के मकबरे की पूर्वी दिशा में भवन का पुनर्निर्माण कराने पर रामबाबू के खिलाफ भी तहरीर भेजी गई थी।
थाना प्रभारी ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए तहरीर अपने पास रख लीं। उन्होंने जांच कर तहरीर की सत्यापित प्रतियां भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण को उपलब्ध नहीं कराईं। इस अवधि में दोनों स्मारकों पर अवैध निर्माण भी हो गया।
गौरतलब है कि संरक्षित स्मारक का 100 मीटर का दायरे में किसी भी प्रकार के निर्माण या उत्खनन पर प्रतिबंध है। इसके बाहर 200 मीटर का दायरे में सक्षम अधिकारी से अनुमति प्राप्त कर काम किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *