आज की खबर आज
Agra

‘उत्तम त्याग दिवस’ पर अपनी भाषा और अपनी संस्कृति पर जोर

आगरा। शालीमार एंकलेव कमला नगर स्थित श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में दशलक्षण महापर्व के आठवें लक्षण उत्तम त्याग दिन मंगलवार को पूज्य अंतसमती जी एवं अछतमती माताजी के पावन सानिध्य में सुबह भगवान का अभिषेक एवं उत्तम त्याग धर्म की सामूहिक पूजा हुई। त्याग धर्म पर माताजी के प्रवचन भी हुए।
सांयकालीन सत्र में अग्रमाधवी जैन महिला मंडल द्वारा आयोजित एवं विनीता जैन द्वारा निर्देशित ह्यकाल का प्रभावकाल-समय चक्रह्ण नाटक का सुंदर मंचन हुआ। कार्यक्रम के माध्यम से आधुनिक परिवेश में संस्कार को कैसे बचाएं पर बल दिया गया। समय के प्रभाव में युवा पीढ़ी में जो बदलाव आ रहा है, उनके रहन सहन, खाना पान, व्यवसाय न कर जॉब की तरफ आकर्षित होना, अंतरजातीय विवाह एवं अपनी मातृभाषा का प्रयोग न करना आदि समयस्याएं हैं। इन सभी से युवाओं को बचाने का संदेश नाटिका के माध्यम से दिया गया। लगभग 45 छोटे बड़े बच्चों ने इस कार्यक्रम में अपनी कला का अद्भुत परिचय दिया। कार्यक्रम का शुभारंभ निर्देशिका विनीता जैन और जगदीश जैन ने किया। मंच संचालन आलोक जैन ने किया। कार्यक्रम में अग्र माधवी जैन महिला मंडल की सदस्य अलका, प्रीति, सपना, बीना, मिथलेश, गुंजन, साक्षी, कृति, नेहा, पूजा, रिजुला, आनया, मान्य आदि लोगों ने कार्यक्रम में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *