आज की खबर आज
Agra

सफाई और सीवर समस्या पर दो अक्टूबर से फोकस

  • महापौर ने बैठक करके अधिकारियों को बताई मंशा
  • दो अक्टूबर से शुरू होगा निगम का विशेष अभियान

बस बहुत हुआ, अब शहर को कूड़ा मुक्त बनाने और सीवर की समस्या का स्थायी समाधान करना ही होगा। दो अक्टूबर से शहर में युद्ध स्तर पर नगर निगम द्वारा कार्य किया जाएगा। इस संकल्प के साथ महापौर नवीन जैन ने नगर निगम के अधिकारियों के साथ कार्यकारिणी कक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें मुख्य रूप से सफाई अभियान, कूड़ा निस्तारण और सीवर समस्या के समाधान पर चर्चा की गई। महापौर ने कहा कि उनके पास आने वाली शिकायतों में सबसे ज्यादा सीवर से जुड़ी शिकायतें होती हैं। इसलिए अब सीवर की समस्या को गंभीरता से लेना होगा।
महापौर नवीन जैन ने कहा कि दो अक्टूबर गांधी जयंती के दिन से पूरे शहर में युद्ध स्तर पर सफाई अभियान शुरू किया जाएगा। शासन की सीवरेज योजना के तहत पूरे शहर में सीवर की सफाई कराई जाएगी। मुख्य सीवर लाइन को एसपीएस और एसटीपी से जोड़ा जाएगा। जिन क्षेत्रों में सीवर लाइन सीधे नाले से जुड़ी हैं या लाइनें मुख्य लाइन से कनेक्ट नहीं हैं, उन जगहों को चिह्नित करके सभी छोटी-बड़ी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। शहर को कूड़ा मुक्त बनाने के लिए महापौर ने नगरायुक्त को निर्देश दिये। कहा कि दो अक्टूबर से सभी 100 वार्डों में पार्षद और अधिकारी स्थानीय लोगों के सहयोग से सफाई अभियान चलाएंगे। यह अभियान दो अक्टूबर 2019 से 31 जनवरी 2020 तक लगातार चार माह तक चलेगा। इस सफाई अभियान का निरीक्षण करने के लिए निगम के अधिकारी प्रत्येक वार्ड के किसी भी क्षेत्र में जाएंगे। इतना ही नहीं सफाई अभियान के प्रति शहरवासियों को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान भी चलाए जाएंगे।
महापौर ने निर्देश दिए कि शहर के सभी स्कूल, कॉलेज और सामाजिक संगठनों को भी इस जागरूक अभियान से जोड़ने के लिए प्रयास किए जाएं। जो संस्थाएं सफाई कार्य में किसी भी रूप में अपना सहयोग देना चाहती हैं तो उन्हें भी साथ में लिया जाए। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर कोर कमेटी की बैठक में महापौर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि कूड़ा निस्तारण में आ रही सभी बाधाओं को दूर किया जाए। शहर के प्रत्येक डलाबघर से प्रतिदिन दो बार कूड़ा उठाया जाए। गंदगी करने वालों को चिह्नित करके उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करें। डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन करने वाली कंपनियों द्वारा बरती जा रही लापरवाही पर भी नाराजगी जताई। शिकायत के आधार पर महापौर ने लोहामंडी क्षेत्र में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन में काम कर रही एक प्राइवेट कंपनी का करार भी खत्म करने का निर्देश दिये।
उन्होंने शहर के बाहर मुख्य साइट पर बने डंपिंग जोन पर भी कूड़ा प्रबंधन और निस्तारण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि डंपिंग जोन पर कूड़ा निस्तारण के लिए जो प्लांट लगाए गए हैं उन्हें दिवाली के बाद उन्हें शुरू कर दिया जाए, जिससे शहर में और शहर के बाहर कहीं भी कूड़ा नजर ना आये।
बैठक में नगरायुक्त अरुण प्रकाश, अपर नगरायुक्त केबी सिंह, विनोद कुमार गुप्ता, सहायक नगरायुक्त अनुपम शुक्ला, प्रभारी मुख्य अभियंता एके सिंह, मुख्य अभियंता (वि/यां) संजय कटियार, जल संस्थान के महाप्रबंधक आरएस यादव, पर्यावरण अभियंता राजीव कुमार राठी, सीएफओ पवन कुमार, मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनमोहन अग्रवाल, अधिशासी अभियंता हरिगोविंद सिंह, अजीत कुमार आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *