आज की खबर आज
National

कमलनाथ के भांजे रतुल बैंक से फ्रॉड में गिरफ्तार

ईडी ने कमलनाथ के परिवार को दिया बड़ा झटका
सेंट्रल बैंक आॅफ इंडिया से 354 करोड़ का फ्रॉड

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे और मोजर बेयर कंपनी के पूर्व कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी को 300 करोड़ के बैंक घोटाले के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। इसे कमलनाथ और उनके परिवार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। दो दिन पहले ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रतुल पुरी और अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। यह मुकदमा सेंट्रल बैंक आॅफ इंडिया की तरफ से दायर 354 करोड़ रुपये के बैंक घोटाला मामले में दर्ज किया गया था। रतुल को आज सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया। नीता पुरी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की बहन हैं और रतुल पुरी कमलनाथ के भांजे हैं। वहीं, अगस्ता वेस्टलैंड मामले में रतुल पुरी को अग्रिम जमानत मिली हुई है। इससे पहले वह टायलेट जाने के बहाने से ईडी के कब्जे से भाग निकले थे लेकिन आज उनकी गिरफ्तारी से रतुल पुरी की फरारी की आशंका भी खत्म हो गया है।
रतुल के अलावा एमबीआईएल के प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, कंपनी में पूर्णकालिक निदेशक उनकी पत्नी नीता पुरी, एमबीआईएल के पूर्व कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी, निदेशक संजय जैन, विनीत शर्मा और अन्य अज्ञात सरकारी सेवकों और अन्य व्यक्तियों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक दुर्व्यव्यवहार और आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया गया था। रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड मामले में जांच के घेरे में हैं। रतुल पुरी पर उनकी कंपनी के जरिए कथित तौर पर रिश्वत लेने का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है कि रतुल पुरी की स्वामित्व वाली कंपनी से जुड़े खातों का उपयोग रिश्वत की रकम लेने के लिए किया गया। अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील 3,600 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है। आरोप है कि इस करार में 360 करोड़ रुपये का कमीशन दिया गया था। इस मामले में रतुल पुरी का भी नाम सामने आया था लेकिन इस केस में आरोपी से सरकारी गवाह बने राजीव सक्सेना ने पूछताछ में रतुल पुरी का नाम छिपा लिया था।
रतुल पुरी पहले ही 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले से जुड़े धन शोधन के मामले में जांच झेल रहे हैं। लेकिन अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उन्हें बैंक फ्रॉड मामले में गिरफ्तार कर लिया है। इसे रतुल पुरी और कमलनाथ परिवार के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है। इससे पहले ईडी ने कोर्ट से कहा था कि रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड के मामले में जांच से बच रहे हैं। पुरी ने अपने खिलाफ गैर जमानती वारंट रद्द करने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की थी। जांच एजेंसी ने पुरी की याचिका का विरोध किया और कहा कि उसने रविवार और सोमवार सहित कई मौकों पर पुरी को बुलाया, लेकिन वह उपस्थित नहीं हुए। पुरी के वकील विजय अग्रवाल ने दावा किया कि एजेंसी पुरी के प्रति निष्पक्ष नहीं रही है, जो कि जांच में सहयोग करना चाहते हैं। अग्रवाल ने अदालत से कहा कि वह ईडी के साथ जांच में शामिल होना चाहते हैं लेकिन ईडी ने उन्हें एक ई-मेल भेजा और दोपहर एक बजे बुलाया। यह अनुचित है। कोई व्यक्ति इतने कम समय के नोटिस में जांच में कैसे शामिल हो सकता है। बहरहाल, अदालत ने पुरी की याचिका पर अपना आदेश 21 अगस्त के लिए सुरक्षित रख लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *