आज की खबर आज
Agra

बिना पोस्टिंग के ही जमे थे क्राइम ब्रांच में, गिरी गाज

  • थानों और पुलिस लाइन से संबद्ध हो गए थे सिटी क्राइम ब्रांच के कई पुलिसकर्मी
  • सात पुलिसकर्मी हुए अपनी पुरानी जगहों पर वापस, तीन तो लाइन से थे संबद्ध

एसएसपी बबलू कुमार के एक आदेश के बाद शहर क्राइम ब्रांच में बिना पोस्टिंग के जमे हुए पुलिसकर्मी अपनी पुरानी मूल तैनाती पर वापस हो गए हैं। कुछ तो पुलिस लाइन में तैनात थे और अपने को शहर क्राइम ब्रांच से संबद्ध कराए हुए थे। कुल मिलाकर सात पुलिसकर्मी संबद्ध निकले, जिन्हें वापस कर दिया गया है।
बता दें कि करीब डेढ़ साल पहले सिटी क्राइम ब्रांच का गठन हुआ था। इसमें कुछ पुलिसकर्मियों को तो तत्कालीन एसएसपी ने तैनाती दी। कुछ प्रभारी से सांठगांठ कर थानों से यहां संबद्ध हो गए। यहां संबद्ध होने के बाद उनकी कार्यशैली भी सवालों के घेरे में थी। इधर एसएसपी बबलू कुमार के संज्ञान में जब यह बात आई कि पुलिसकर्मी मूल तैनाती की जगह दूसरी जगह जलवा काट रहे हैं तो उन्होंने एक आदेश जारी किया। इसमें उन्होंने लिखा कि जितने भी पुलिसकर्मी जहां संबद्ध चल रहे हैं, उनकी तत्काल प्रभाव से उनकी मूल तैनाती पर वापसी कर दी जाए। इस आदेश के बाद सिटी क्राइम ब्रांच में सन्नाटा छा गया। चूंकि साहब का आदेश है तो पालन भी करना था। पुलिस लाइन से संबद्ध रहकर सिटी क्राइम ब्रांच में काम कर रहे प्रदीप यादव, गिर्राज यादव, विनय यादव अब पुलिस लाइन में वापस हो गए हैं। परवेश न्यू आगरा थाने में तैनात थे, वह भी वापस चले गए हैं। आशीष शाक्य जगदीशपुरा में थे, वे वहां चले गए हैं। विनय न्यू आगरा और नेत्रपाल छत्ता थाने में चले गए हैं। अब टीम में अमित चौहान, आशुतोष त्रिपाठी, रविंद्र, तहसीन रह गए हैं। इनकी तैनाती तत्कालीन एसएसपी ने की थी। इसलिए इनकी तैनाती बनी हुई है। इसी प्रकार अन्य थानों में या कार्यालयों में जो संबद्ध चल रहे थे, वह भी अपनी मूल तैनाती पर चले गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *