आज की खबर आज
Agra

बिल्डर से अपनी सड़क बचाने गये अधिकारी से महिला ने छीनी फाइल

  • अवैध कब्जे की शिकायत पर गई थी निगम की टीम
  • महिला ने बिल्डर के बचाव में टीम से की नोक-झोंक

बिल्डर से पार्षद की डिमांड का प्रकरण

भाजपा पार्षद ने जिस बिल्डर से अवैध बिल्डिंग की अनदेखी करने के लिए फ्लैट की डिमांड की थी, उसी बिल्डर से अपनी सड़क (गली) को बचाने गयी नगर निगम की टीम से एक महिला ने नोक-झोंक करके अधिकारी के हाथ से फाइल तक छीन ली। काफी देर तक वहां हंगामा जैसे हालात रहे। टीम को वापस लौटना पड़ा।
शहर की एक पॉश कॉलोनी में एक बिल्डर फर्जीवाड़े की ‘जमीन’ पर बिल्डिंग बना रहा है। बहुमंजिला बिल्डिंग में कई फ्लैट्स बनाए जा रहे हैं। आरोप है कि इस बिल्डर ने नगर निगम की सड़क को अपने मानचित्र में दर्शा दिया है। गली में एक तरफ अपना गेट तक लगा दिया है, जिसका निर्माण नगर निगम ने कराया था। सड़क नगर निगम की है, लेकिन बिल्डर इसे अपने भवन का हिस्सा बनाना चाहता है। डीएलए ने बिल्डर से पार्षद की डिमांड और नगर निगम की सड़क पर अवैध कब्जा करने का खुलासा किया तो मामला तूल पकड़ गया।
सूत्रों की मानें तो नगरायुक्त अरुण प्रकाश ने नगर निगम की सड़क पर अवैध कब्जे की जांच करने के लिए सहायक नगरायुक्त अनुपम शुक्ला को मौके पर भेजा। उनके साथ एनफोर्समेंट टास्क फोर्स भी था। जब वे गली में पहुंचे और सड़क की पड़ताल करने लगे तो वहां एक महिला आ गयी, जिसने नगर निगम की टीम का विरोध किया। महिला ने नोक-झोंक करते हुए अधिकारी के हाथ से फाइल छीन ली। बाद में टीम ने महिला से फाइल वापस ले ली। सहायक नगरायुक्त अनुपम शुक्ला ने उक्त महिला के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश तक दे डाले। सूत्रों की मानें तो महिला का उद्देश्य कैसे भी नगर निगम की टीम की जांच को प्रभावित करना था। सड़क पर कब्जे को लेकर नगर निगम भी गंभीर हो गया है। बिल्डिंग से जुड़े दस्तावेजों को एकत्रित किया जा रहा है। निगम से दी गई एनओसी के बारे में भी जानकारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *