आज की खबर आज
National

आजम खान ने सदन में रमा देवी से मांगी माफी

रमा देवी थीं असंतुष्ट पर अध्यक्ष मामले को समाप्त किया

नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष के पैनल की सदस्य रमा देवी पर अभद्र टिप्पणी वाले मामले में आज एसपी सांसद आजम खान ने माफी मांग ली। उन्होंने कहा कि रमा देवी उनकी बहन जैसी हैं और यदि उनकी टिप्पणी से उन्हें दुख हुआ है तो वह क्षमा प्रार्थी हैं। इसके साथ ही लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला ने इस मामले का पटाक्षेप कर दिया।
हालांकि इस दौरान लोकसभा में मौजूद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कुछ अन्य मामलों को भी उठाने का प्रयास किया। लेकिन भाजपा सांसदों ने जबर्दस्त टोकाटाकी कर उन्हें रोका। अखिलेश यादव ने कहा कि उन्नाव की रेप पीड़िता युवती के साथ जो कुछ हुआ, उसे भी पूरा देश देख रहा है। इस पर रमा देवी ने कहा कि आजम खान लगातार अपने आचरण से लोगों को शर्मिंदा करते रहे हैं। रमा देवी आजम खान के माफीनामे से संतुष्ट नहीं दिखीं। उन्होंने कहा कि आजम खान आदतन ऐसी बातें बोलती हैं और उनकी बातों पर पूरे देश को आक्रोश है।
इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मामले को समाप्त करते हुए कहा कि सभी सदस्यों का दायित्व है कि वह आसन की गरिमा और प्रतिष्ठा बनाए रखें। इस संबंध में पहले से तय था कि यदि आजम खान माफी नहीं मांगते तो स्पीकर कोई कड़ा फैसला ले सकते थे। आजम खान के माफी नहीं मांगने की सूरत में उन्हें सदन से निलंबित किये जाने की भी संभावना थी। चूंकि सत्र के बाकी बचे दिनों में प्रश्नकाल नहीं होगा, लिहाजा आजम खान का मसला सदन की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही उठाया गया।
इससे पहले सर्वदलीय बैठक में स्पीकर ओम बिरला को कार्रवाई के लिए अधिकृत किया गया। था। इस बैठक में स्पीकर बिरला के साथ ही बीएसपी सांसद दानिश अली, एनसीपी नेता सुप्रिया सुले, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, डीएमके नेता कनिमोझी, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला शामिल हुए। लोकसभा में तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान गुरुवार को उस समय विवाद की स्थिति बन गई थी, जब पीठासीन सभापति और बीजेपी सांसद रमा देवी को लेकर समाजवादी पार्टी नेता आजम खान ने एक टिप्पणी की, जिसके बाद बीजेपी के सदस्यों ने जोरदार हंगामा किया और माफी की मांग की। पीठासीन सभापति रमा देवी भी कहते सुनी गयीं कि यह बोलना ठीक नहीं है और इसे रिकॉर्ड से हटाया जाना चाहिए। उन्होंने इसके लिए आजम खान से माफी मांगने को भी कहा।
आजम खान के बयान के खिलाफ अलग अलग दलों की महिला सांसदों समेत कई दलों के नेताओं ने विवादित टिप्पणी पर अपना कड़ा विरोध जताया था। महिला सांसदों ने स्पीकर से ऐसी कार्रवाई करने की मांग की जो नजीर बन सके। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि या तो आजम खान इसके लिए माफी मांगें या उन्हें निलंबित कर दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *