आज की खबर आज
Agra

शीतगृह संचालकों की पहुंच एशिया पैसिफिक तक

पांच देशों के प्रतिनिधि कोआर्डिनेटर बनाये गये, दिसम्बर में पदाधिकारियों की घोषणा

  • महापौर नवीन जैन ने किया प्रदर्शनी का उद्घाटन
  • पहले दिन शीतगृहों की सुरक्षा सुधारने पर रहा जोर
एशिया पैसिफिक कोल्ड चेन एसोसियेशन के कोर्डिनेटर बनाये गये सदस्य संयुक्त माला पहने हुए। साथ हैं फेडरेशन आॅफ कोल्ड स्टोरेज एसोसिएशन आॅफ इंडिया के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश गोयल व अन्य।

आगरा। देश के शीतगृह उद्योग से जुड़े उद्यमियों ने अपने पैर पसारते हुए एशिया पैसिफिक क्षेत्र में प्रभाव बनाना शुरू कर दिया है। फेडरेशन आॅफ कोल्ड स्टोरेज एसोसिएशन आॅफ इंडिया की पहल पर एशिया पैसिफिक कोल्ड चेन एसोसियेशन की शुक्रवार को ताजनगरी में शुरुआत कर दी गई। फिलहाल पांच देशों के प्रतिनिधियों को कोआर्डिनेटर बना दिया गया है। ये कोर्डिनेटर अन्य देशों के प्रतिनिधियों को जोड़ने का क्रम शुरू करेंगे और दिसम्बर माह में मुंबई में होने वाले सम्मेलन में एशिया पैसिफिक कोल्ड चेन एसोसियेशन के पदाधिकारियों की घोषणा कर दी जाएगी।
यह निर्णय यहां फतेहाबाद रोड स्थित केएनसीसी कन्वेंशन सेंटर में शुक्रवार को शुरू हुए तीन दिवसीय आॅल इंडिया कोल्ड चेन सेमिनार-2019 के पहले दिन लिया गया। पांचों कोआर्डिनेटरों को एक बड़ी माला पहना कर एक सूत्र में बंधा दिखाया गया।
फेडरेशन के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश गोयल ने बताया कि कोआर्डिनेटरों में भारत से फेडरेशन के अध्यक्ष महेंद्र स्वरूप, कोरिया के म्योंग सू चुंग, इंडोनेशिया कोल्ड चेन एसोसिएशन के चेयरमैन हसनुद्दीन यासनी, चाइना फेडरेशन के डिप्टी डायरेक्टर फी चेन, नेपाल के अरुण राज सुमार्गी शामिल हैं।
शुक्रवार की सायं ही सम्मेलन के तकनीकी सत्र में पुणे के अनिल गुलानीकर ने शीतगृह की सुरक्षा विषय पर प्रजेंटेशन दिया। उन्होंने बताया कि हर दो वर्ष में बाहर के तकनीकी विशेषज्ञ से अपने प्लांट का आॅडिट यानि हेल्थ चेकअप करवाएं। ओनर से आॅपरेटर तक सबको हर वर्ष प्रशिक्षण दिया जाए। प्लांट का आॅपरेशन व मेंटेनेंस ठीक रखने के साथ प्लांट में कार्यरत वर्कर्स के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखा जाए, प्लांट बनाने से लेकर उसमें किये जाने वाले परिवर्तनों का समुचित डॉक्यूमेंटेशन किया जाए। जम्मू-कश्मीर एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं कश्मीर में पहला सीए शीतगृह यानी कंट्रोल्ड एटमॉस्फेयर कोल्ड लगाने वाले हितेन सूरी ने नियंत्रित वातावरण वाले शीतगृह की तकनीक व संचालन की जानकारी प्रदान की।
इससे पूर्व सम्मेलन लगाई गई प्रदर्शनी का उद्घाटन महापौर नवीन जैन ने फीता काटकर किया। इस दौरान फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेंद्र स्वरूप, कार्यकारी अध्यक्ष राजेश गोयल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशीष गुरु गुजरात, कोषाध्यक्ष हंसमुख जैन गांधी मध्य प्रदेश, महासचिव मुकेश अग्रवाल दिल्ली, नेशनल कोआॅर्डिनेटर-यूपी अरविंद अग्रवाल, पंजाब नेशनल बैंक के जोनल मैनेजर बीएस मान समेत देश-विदेश के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
रात्रि में हुई भजन संध्या में पंडित मनीष शर्मा ने अपने सुमधुर भजनों से देश-विदेश के सैकड़ों शीत गृह स्वामियों को झूमने पर मजबूर कर दिया। भजन संध्या के मुख्य अतिथि विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल रहे।
सेमिनार में श्रीनगर-कश्मीर से पहली बार आए दस शीत गृह स्वामियों का माला पहनाकर सम्मान किया गया। महासचिव मुकेश अग्रवाल दिल्ली ने संचालन किया व हितेन सूरी ने धन्यवाद दिया।

आज सुबह से शुरू
हुए तकनीकी सत्र
सम्मेलन के दूसरे दिन आज सुबह से तकनीकी सत्रों में शीतगृहों की स्थिति और सुधार पर चिंतन व मनन किया जा रहा है। सुबह के सत्र के मुख्य अतिथि सांसद प्रो. एसपी सिंह बघेल रहे। आज शाम को अवॉर्ड सेरेमनी होगी। तीसरे दिन रविवार को प्रदेश के उद्यान मंत्री दारा सिंह चौहान मुख्य अतिथि रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *