आज की खबर आज
Agra

अक्टूबर में शुरू होगा 48 हजार घरों को सीवर लाइन से जोड़ने का काम

मेयर के प्रयास लाए रंग, 273 करोड़ की डीपीआर शासन से मंजूर, 22 वार्डों की करीब 400 कॉलोनियों के लोगों की दूर होगी समस्या

सूबे की योगी सरकार ने आगरा के लिए दिल और खजाना दोनों खोल दिए हैं। पेयजल के बाद अब सीवर तंत्र को बढ़ाने के लिए 273 करोड़ रुपये की डीपीआर को मंजूरी दी है। इस पर अक्टूबर माह में कार्य शुरू हो जाएगा। नगर निगम के 22 वार्डों करीब 400 कॉलोनी/मोहल्लों में सीवर लाइन डाली जाएगी। मेयर नवीन जैन ने यह जानकारी गुरुवार को नगर निगम प्रेसवार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि शहर के 48 हजार घरों में नए सीवर कनेक्शन दिए जाएंगे। 251 किलोमीटर सीवर लाइन डाली जाएगी। इस योजना के तहत बिचपुरी सदरवन व अलबतिया में दो नए सीवर ट्रीटमेन्ट प्लांट भी बनाये जाएंगे। आगरा महानगर में सर्वे का कार्य पूरा हो चुका है, जिसके अनुसार दो लाख तीस हजार दो सौ छत्तीस हाउस होल्ड पाए गए हैं। वर्तमान में 42 प्रतिशत क्षेत्र में सीवर लाइन बिछी हुई है। जब मैंने महापौर पद का कार्यभार संभाला था, तभी मैंने प्रण किया था कि आगरा शहर का प्रत्येक घर सीवर लाइन से कनेक्ट होगा। इसी दिशा में कार्य चल रहा है। केंद्र और प्रदेश की सरकार भी कार्यों को स्वीकृत कर रही हैं। 2021 तक आगरा में एक लाख सीवर कनेक्शन और दे दिए जाएंगे। शहर के विभिन्न वार्डों में सीवर लाइन डाली जा चुकी है, जिसमें 52,000 घर सीवर प्रणाली से जुड़ जाएंगे व वेस्टर्न जोन प्रोजेक्ट के तहत 251 किमी सीवर लाइन से वर्ष 2021 तक 48000 घर और सीवर से कनेक्ट हो जाएंगे।

इन क्षेत्रों में बिछेगी सीवर लाइन
आगरा। वेस्टर्न प्रोजेक्ट के तहत जिन क्षेत्रों में सीवर लाइन बिछेगी उनमें जगदीशपुरा, भीमनगर, सैय्यदपाड़ा, जगदीशपुरा पूर्वी, लक्ष्मी नगर, विक्रम नगर, नगला गोकुल चन्द्र, कबीर कुंज, रोडवेज कॉलोनी, किशोरपुरा, नौबस्ता, पीर बहादुरी रोड, कुशवाह गली, तेलीपाड़ा, घास की मंडी, इन्द्रा कॉलोनी, जोगीपाड़ा, दयाल नगर, शिब्द साहनी नगर, विशनु कॉलोनी, सब्जी मण्डी शाहगंज, नगला मोहन, शान्ती नगर, तहसील कम्पाउण्ड, रूई की मण्डी, राधा बल्लभ इंटर कॉलेज, चारबाग, पुलिस लाइन हॉस्पिटल, जीआईसी इंटर कॉलेज, धोलीखार, मुंडापाड़ा, तलैया काजीपाड़ा, अशोक गली, टीला शेख मन्नू, राजनगर, नगला गंगाराम, जयपुर हाउस बाजार क्षेत्र, सिर की मण्डी, वाल्मीकि बस्ती, आलोक नगर, लाडली कटरा, मोहनपुरा, सुंदरपाड़ा, गिहारा बस्ती, डीएम कम्पाउण्ड, धौलपुर हाउस, पुलिस लाइन क्वार्टर, गढ़ी भदौरिया, कृष्णा कॉलोनी, बैनारा फैक्ट्री के पीछे की आबादी, आनन्द नगर, चाणक्यपुरी, कृष्णापुरी, सुलहकुल नगर, बीधा नगर, बोदला हॉस्पिटल आबादी, तार फैक्ट्री के आसपास का एरिया, गोकुल नगर, अजीतनगर, नॉर्थ अर्जुन नगर, वेस्ट अर्जुन नगर, रघुवीर, रंजीतनगर, जेपी कॉलोनी, सिन्धी कॉलोनी, आदर्श नगर, ज्योति नगर, शान्तीकुंज, सोना नगर, रामनगर, रामनगर पुलिया के पास, प्रेम नगर, मारूति स्टेट, श्याम नगर, विनय नगर, भोगीपुरा, प्रकाश नगर, शिवाजी नगर, सीओडी कॉलोनी, साकेत कॉलोनी, फ्रेण्ड्स कॉलोनी, जनकपुरी, न्यू शाहगंज, सोरों कटरा, कोल्हाई, चिल्लीपाड़ा, सिन्धी स्कूल, नमक की मण्डी, जनता कॉलोनी, मलका चबूतरा, नगला अजीता, आवास विकास सेक्टर-4, नगला अजीता, आजमपाड़ा, न्यू आजमपाड़ा, नई आबादी आजमपाड़ा, आवास विकास सेक्टर-11, सेक्टर-12, सैक्टर-4,अलबतिया, बोदला आबादी, जगदीशपुरा रोड तक, सराय नवी शाह की दरगाह, नई आबादी अलबतिया, बोदला नई आबादी, प्रभु नगर, केशव कुंज, माधव कुंज, प्रताप नगर, पुष्पांजलि टावर तक स्टेट बैंक कॉलोनी, हसनपुरा, गजानन नगर, हनुमान नगर, व्यापार कर कार्यालय, .76-ए0 धाकरान, पुलिस लाइन से प्ले ग्राउण्ड, शंकर कॉलोनी, नॉर्थ ईदगाह कॉलोनी, कलक्ट्रेट, कचहरी रोड, फायर ब्रिगेड, कल्याणपुर, हंटले हाउस, खोजा हवेली, केदार नगर कॉलोनी, शंकरपुरी कॉलोनी, रामपुरी कॉलोनी, बालाजीपुरम नई आबादी, जटपुरा, कारवान, फतेहचन्द इंटर कॉलेज, मालवीय कुंज, मदिया कटरा क्रॉसिंग, मोतीकुंज न्यू राजामण्डी कॉलोनी, बिल्लोचपुरा, राजामण्डी रेलवे स्टेशन, आलमगंज, तोता का ताल, गोविन्दधाम, भीमनगर, आनन्द नगर, भीमनगर (आ.) मोतीकुंज, आलमगंज (आ.) नगला बेर, बिल्लोचपुरा, खातीपाड़ा, बाग रामसहाय, पुनिया पाड़ा, कटघर, टीला जोशियान, बाग अन्ता, लोहामण्डी बाजार, बल्देवगंज, गूजर तोपखाना, तरकारी गली, पुल छिंगा मोदी, राममोहन नगर, गणेश नगर, हरीश नगर, दीप नगर, दुष्यंत नगर, ज्योति नगर, भाग्य श्री नगर, देहतोरा मोड़, ध्रुव नगर, सुलभ पुरम, फ्रेन्ड्स पुरम, आवास विकास सेक्टर-13, 14, 15 शामिल हैं।

आगरा शहर को आठ सीवरेज जोन में बांटा
आगरा। मेयर ने बताया कि आगरा शहर को आठ सीवरेज जोन में बांटा गया है, जिसमें विगत वर्षों में लगभग 581 किलोमीटर की सीवर लाइन डाली जा चुकी है। जबकि 751 किलोमीटर सीवर लाइन डालने की और आवश्यकता है। शासन स्तर से पहले चरण में 251 किलोमीटर सीवर लाइन डालने का कार्य स्वीकृत किया गया है। इस कार्य योजना की लागत लगभग 273 करोड़ रुपये है। जल निगम द्वारा सर्वे कराए जाने के बाद डिजाइन तैयार होगा व अक्टूबर माह से सीवर लाइन डालने का कार्य प्रारम्भ हो जाएगा।

2021 तक एक लाख घर
सीवर के कनेक्शन से जुडेंगे

आगरा। इस कार्य योजना के तहत जून 2021 तक शहर के लगभग एक लाख घरों को सीवर के कनेक्शन से जोड़ा जाएगा। यह कार्य सीवर की समस्या को ध्यान में रखते हुए प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। जिन वार्डों में सीवर लाइन बिल्कुल नहीं है सबसे पहले उन वार्डों में सीवर लाइन डाली जाएगी। उसके बाद जिन वार्डों में आंशिक रूप से सीवर लाइन बिछी है, उस वार्ड में सीवर लाइन डालकर सभी सीवर लाइनों को आपस में कनेक्ट किया जाएगा। यह कार्य होने पर काफी हद तक सीवर समस्या का समाधान हो सकेगा।
सीवर की समस्या के समाधान के साथ-साथ जल संरक्षण की दिशा में भी कदम उठाया गया है। इसी कार्य योजना के अंतर्गत बिचपुरी में दो सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाए जाएंगे, जिनकी क्षमता 40-40 एमएलडी की होगी। इस प्लांट में सीवरेज से आने वाले गंदे पानी का शोधन कर उसे विभिन्न कार्य में इस्तेमाल किया जाएगा। इससे सबसे ज्यादा फायदा बिचपुरी में रहने वाले किसानों को होगा। शोधन से निकलने वाले साफ पानी को कृषि कार्य में प्रयोग कर सकेंगे। प्रेसवार्ता में नगरायुक्त अरुण प्रकाश भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *