आज की खबर आज
National

गहलोत और कमलनाथ के इस्तीफों पर सस्पेंस कायम

राजस्थान के सीएम का इस्तीफे से इनकार नहीं
हर तरह के फैसले को राहुल गांधी हैं अधिकृत

नई दिल्ली। कांग्रेस के भीतर एक तरफ इस्तीफों की झड़ी लग गई है तो वहीं पार्टी अध्यक्ष के पद को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ अहम बैठक की। इसके बाद जब पत्रकारों ने अशोक गहलोत से उनके और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा इस्तीफे की पेशकश किए जाने की खबरों पर सवाल किए तो उन्होंने इससे इनकार भी नहीं किया। गहलोत ने कहा कि जिस दिन चुनाव के परिणाम आए थे, उस दिन इस्तीफे की पेशकश की थी।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्रियों को अपने इस्तीफे देने होते हैं और उसके बाद हाईकमान फैसला करते हैं कि आगे क्या करना है। राजस्थान के सीएम ने यह भी कहा कि चुनी हुई सरकारों को स्टेबल रखना ही होता है। पूरी वर्किंग कमेटी ने राहुल गांधी को अधिकृत किया है कि वह जो चाहें फैसला करें, पुनर्गठन करें, रिप्लेसमेंट करें, कुछ भी करें और यह फैसला 25 जून को ही हो चुका है।
बैठक के बारे में गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी को आज हमने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भावनाओं से अवगत कराया। हमने दो घंटे तक बातचीत की। हम सभी ने कहा कि चुनाव में हार-जीत होती रहती है, पहले भी हुई है। उन्होंने हमारी बात को ध्यान से सुना है। हमने अपनी बात दिल से कही है। हम उम्मीद करते हैं कि वह हमारी बातों पर गौर करेंगे और समय आने पर फैसला करेंगे। क्या राहुल गांधी माने? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने अपनी भावना बता दी। खुलकर और दिल से बातचीत हुई है। गहलोत ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने चुनाव में मुद्दों पर बात की थी जबकि दूसरे पक्ष ने देशभक्ति के नाम पर देश को गुमराह किया। उन्होंने सेना के पीछे छिपकर राजनीति की।
बताया जा रहा है कि संसद परिसर में पत्रकारों के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा था कि वह अपने फैसले पर अड़े हुए हैं। चुनाव नतीजे आने के बाद खबर आई थी कि राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की है और बाद में इसे कांग्रेस वर्किंग कमिटी द्वारा खारिज किए जाने की बात सामने आई। हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार अपनी बात पर अड़े हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *