आज की खबर आज
Cafe

मैं एक हैप्पी आउटसाइडर हूं : तापसी पन्नू

अभिनेत्री तापसी पन्नू ने दक्षिण भारतीय फिल्मों से अपने करियर की शुरूआत की है और हिंदी फिल्म जगत में भी कई फिल्मों की सफलता से उन्होंने अपनी खास जगह बनाई है। तापसी ‘आउटसाइडर’ होने को इंडस्ट्री में अपनी मजबूती मानती हैं। ‘आउटसाइडर’ इस टैग के साथ वह कैसे डील करती हैं? इस पर तापसी ने कहा, ‘हां, मैं एक आउटसाइडर हूं और मुझे नहीं लगता है कि इसमें कुछ गलत है। मैं एक हैप्पी आउटसाइडर हूं। मैं फिल्म जगत के नामी-गिरामी हस्तियों में मशहूर नहीं हूं और जब मैं शूटिंग नहीं कर रही होती तो मैं घूमती हूं और फिल्मी दुनिया से बाहर एक आम इंसान की जिंदगी को करीब से देखने और जानने का प्रयास करती हूं।’
तापसी ने आगे कहा, ‘मुझे लगता है कि यह मेरी ताकत है कि मैं इंडस्ट्री में बाहर से आई हूं जो एक सामान्य जिंदगी के चलते अपने प्रदर्शन में कई सारी वास्तविक चीजों को दिखा सकती है। इसके साथ ही मैं रात को जल्दी सो जाती हूं और सुबह जल्दी उठती हूं, इसलिए देर रात तक पार्टी मेरी जीवनशैली को सूट नहीं करता..मैं अपनी दुनिया में खुश हूं, वाकई में।’ पिछले साल तापसी की चार बॉलीवुड फिल्में रिलीज हुई जिनमें ‘मुल्क’, ‘मनमर्जियां’ और एक तेलुगु फिल्म ‘नीवेवारो’ शामिल थी। इस साल ‘गेम ओवर’ के बाद उनके पास ‘मिशन मंगल’ और ‘सांड की आंख’ जैसी फिल्में हैं। हाल ही में तापसी ने खुद को मुंबई में एक नया अपार्टमेंट गिफ्ट किया। इस सफलता को वह किस प्रकार से देखती हैं? इस सवाल के जवाब में तापसी ने कहा, “यह मेरे बकेट लिस्ट में था कि 30 साल की उम्र तक मुझे अपना कार, अपना अपार्टमेंट और स्थिर करियर चाहिए। शुक्र है कि मैं इन सबको पूरा करने में कामयाब रही। अभी मेरे पास हासिल करने के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *