आज की खबर आज
Uncategorized

विवि में हो रहे निर्माण को लेकर आ रहीं धुुआंधार आरटीआई

90 करोड़ से ऊपर के हैं निर्माण कार्य, एक निर्माणाधीन बिल्डिंग का तो नक्शा ही पास नहीं

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में करोड़ों रुपये के निर्माण कार्य चल रहे हैं। इनको लेकर धुआंधार आरटीआई पड़ रही हैं। हर कोई जानना चाह रहा है कि कहां कितनी रकम से निर्माण कार्य हो रहा है।
बता दें कि ललित कला संस्थान में करीब 41 करोड़ की लागत से बिल्डिंग बन रही है। आरटीआई में पूछा जा रहा है कि क्या इस जमीन के विश्वविद्यालय के पास कागज हैं? क्या विकास प्राधिकरण से नक्शा पास कराया गया है? कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अखिलेश चौधरी ने भी आरटीआई डाली है, लेकिन अभी तक जवाब नहीं मिला है। सूत्रों का कहना है कि प्राधिकरण से बिना नक्शा पास कराए इस इमारत को बनवाया जा रहा है। सवाल खड़े होने पर नक्शा पास होने को प्राधिकरण में आवेदन किया गया है। इसके अलावा शिवाजी मंडप जो 20 करोड़ की लागत से बन रहा है, उसको लेकर भी आरटीआई पड़ रही हैं। इसके अलावा गेस्ट हाउस का पौने तीन करोड़, सुल्तानगंज की पुलिया पर पैरामेडिकल कॉलेज का पौने पांच करोड़ से निर्माण होना है। इसको लेकर भी जानकारी की जा रही है। गोपाल कुंज में 20 करोड़ की लागत से क्वार्टर बनने का काम भी शुरू होने वाला है। कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अखिलेश चौधरी का कहना है कि काफी पैसा तो फिजूल में खर्च किया जा रहा है। इससे आने वाले समय में कर्मचारियों की पेंशन के भी लाले पड़ जाएंगे। वे आरोप लगा रहे हैं कि कमीशन के लालच में इतना निर्माण कराया जा रहा है।

दीनदयाल ग्राम्य संस्थान
की बिल्डिंग बनी शोपीस

आगरा। छलेसर में पंडित दीनदयाल ग्राम्य संस्थान की करोड़ों रुपये की लागत से बिल्डिंग तैयार हुई थी, जो शोपीस बनी हुई है, क्योंकि पालीवाल पार्क से संस्थान को वहां स्थानान्तरित ही नहीं किया जा रहा है। जब संस्थान स्थानान्तरित ही नहीं करना था, तो यह इमारत क्यों तैयार कराई गई, इसे लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *