आज की खबर आज
Agra

कूड़े में आग लगाने वालों को पुलिस कप्तान का भी नहीं डर

  • कूड़ा जलाने वाले पुलिस और निगम को दे रहे चुनौती
  • रोजाना कूड़े से उठ रहा है धुंआ और आग की लपटें
  • शहर की आबोहवा बिगाड़ने का बेखौफ हो रहा काम

एसएसपी अमित पाठक की सख्ती से पुलिस तो पसीना-पसीना हो रही है, लेकिन उनका डर कूड़ा जलाने वालों को नहीं है। वे बेखौफ कूड़े को आग के हवाले कर रहे हैं। रोजाना कूड़े में धुंआ और आग की लपटें उठ रही हैं। ये तो सीधे-सीधे पुलिस और नगर निगम को खुली चुनौती है। सवाल उठता है कि क्या निगम की तरह पुलिस कप्तान की सख्ती भी बेअसर हो जाएगी?
शहर की आबोहवा में धुंआ प्रदूषण रूपी जहर घोल रहा है, जो यहां सांसें लेने वालों के स्वास्थ्य के लिए घातक है। ज्ञातव्य है कि इस धुंआ को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी और शासन पहले से ही सख्त है। यहां कूड़ा जलाने पर रोक है। कूड़ा जलाने वालों पर कार्रवाई का प्रावधान है। प्रशासन, नगर निगम और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तो कागजी सख्ती करता रहता है, लेकिन कूड़े में आग लगना बंद नहीं हुआ। सोचिए, जब ताजमहल वाले क्षेत्र में कूड़े से धुंआ उठना बंद नहीं हुआ तो शहर के दूसरे क्षेत्रों में कैसे होगा। समय-समय पर सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी और शासन से फटकार मिलती है। जिम्मेदार अधिकारी शपथपत्र देकर नाराजगी को शांत करा देते हैं।
बता दें कि हाल ही में सूर सदन के प्रेक्षागृह में हुई सेमिनार में कूड़े को जलाए जाने से होने वाले दूषित प्रभावों की जानकारी दी गई थी। यहां पुलिस कप्तान अमित पाठक ने निर्णय लिया था कि कूड़े को जलाने वालों से पुलिस निपटेगी। उनके खिलाफ एफआईआर की कार्रवाई भी करेंगे। नगर निगम भी अलर्ट हो गया और पुलिस कप्तान के साथ मिलकर कूड़े को जलाने वालों को पकड़ने के लिए कवायद शुरू कर दी। एसएसपी को धनौली, रकाबगंज में दुकानों के सामने कूड़ा जलाए जाने के सबूत मिले। सदर और ताजगंज में भी कुछ इसी तरह की स्थिति मिली थी। कइयों के चालान भी किये गये हैं। वहीं नगर निगम सिकंदरा क्षेत्र से एक युवक को पकड़वाकर जेल भिजवा चुका है। पुलिस कप्तान सभी थाना एवं चौकी प्रभारियों को कूड़ा जलाने वालों पर कार्रवाई करने के निर्देश दे चुके हैं। वे स्वयं इस पर नजर रखे हैं फिर भी कूड़े में आग की घटनाएं रुक नहीं पा रही हैं।
भाजपा पार्षद राहुल चौधरी ने बताया कि शंकरपुरी कॉलोनी के सामने बने डलाबघर में आये दिन की आग की लपटें और धुंआ उठता है। कूड़ा जला दिया जाता है। आगरा-जयपुर मार्ग पर कूड़े में आग लगने से प्रदूषण फैलता है। कई बार नगर निगम के अफसरों से शिकायत की, लेकिन कोई ठोस कदम नहीं उठाये गये। इधर आगरा-फिरोजाबाद हाईवे स्थित नवीन गल्ला मंडी के पास नाले में भरे कूड़े में भी किसी ने आग लगा दी। यहां कूड़े से आग की लपटें और धुंआ उठता रहा। लोगों का कहना है कि हाईवे के नालों में कूड़ा फेंका जाता है। बाद में उस कूड़े में आग सुलगती दिखती है। इस संबंध में पर्यावरण अभियंता राजीव कुमार राठी का कहना है कि कूड़ जलाने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। शहरवासियों से अपील है कि कूड़ जलाने वालों की जानकारी दें। इससे कूड़ा जलाकर प्रदूषण फैलाने वालों पर कार्रवाई हो सके। जानकारी देने वालों का नाम गोपनीय रखा जाएगा। अब तो पुलिस का साथ भी मिल गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *