आज की खबर आज
Agra

पुरुषोत्तम का खेल बिगाड़ने का ‘खेल’

फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर रची गई साजिश, समय रहते कर दी गई विफल

आगरा। मतदान की तिथि आते-आते आगरा उत्तर विधान सभा क्षेत्र में षड्यंत्रों का दौर भी शुरू हो गया है। कुछ तत्व माहौल बिगाड़ने की साजिशों में जुट चुके हैं। भाजपा के प्रत्याशी पुरुषोत्तम खंडेलवाल का खेल बिगाड़ने के लिए ऐसी ही दो साजिशें हुईं। सतर्क भाजपाई खेमे ने दोनों षड्यंत्रों को समय रहते बेअसर कर दिया। इसके साथ ही भाजपाई लोगों से सम्पर्क कर इन अफवाहों के बारे में बताकर आगाह कर रहे हैं कि वे किसी भी प्रकार की अफवाह पर भरोसा न करें। यह भी बताया जा रहा है कि मतदान के दिन तक इसी तरह की कुछ और अफवाहें फैलाई जा सकती हैं।
भाजपाई खेमे को बीते कल अपने प्रत्याशी पुरुषोत्तम खंडेलवाल के खिलाफ हुई एक साजिश की जानकारी हुई। शरारती तत्वों ने इसके लिए फेसबुक का सहारा लिया। गुरुवार की रात 12 बजे फेसबुक पर एक भाजपाई के नाम से फर्जी अकाउंट बनाकर कुछ ऐसी पोस्ट डाली गई कि एक समाज विशेष के लोग भड़क जाएं। शरारती दिमाग ने पोस्ट डालने के बाद इसे दर्जन भर लोगों को टैग किया और फिर फर्जी अकाउंट डिलीट कर दिया। बीते कल भाजपाई खेमे को इस साजिश की जानकारी हुई तो साजिश करने वाले की खोजबीन शुरू हुई। इस बीच उस भाजपा कार्यकर्ता ने न्यू आगरा थाने में रिपोर्ट लिखवा दी है जिसके नाम से फेसबुक पर फर्जी एकाउंट बनाया गया था। पुलिस भी मामले को लेकर गंभीरता से जांच में जुट गई है। समझा जाता है कि अगले दो-चार दिन में पुलिस की जांच में यह बात साफ हो जाएगी कि यह शरारत किसने की और इस साजिश के पीछे कौन लोग हैं? षड्यंत्रकारी भी जानता था कि वह पकड़ में आ सकता है, इसलिए उसने फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाने के चंद मिनटों के भीतर साजिश को अंजाम दिया और फिर अकाउंट को डिलीट भी कर दिया।
भाजपाई खेमे ने बगैर देरी किए फेसबुक के जरिए ही शरारत करने वाले को जवाब देकर षड्यंत्र की हवा निकाल दी। जिन लोगों को भड़काने के लिए यह साजिश की गई थी, जल्द ही उनकी भी समझ में आ गया कि यह किसी की घटिया हरकत है। इस घटना के बाद पुरुषोत्तम खंडेलवाल के समर्थक सोशल मीडिया और व्य्क्तिगत मुलाकातों में लोगों को यह समझाने में जुट गए हंै कि मतदान से पहले माहौल बिगाड़ने के लिए अफवाहों का सहारा लिया जा रहा है। अभी इस तरह की और भी अफवाहें सामने आ सकती हैं, इसलिए सावधान रहें। इस आशंका को इसलिए भी बल मिला क्योंकि बीते कल ही एक अन्य वर्ग को भड़काने के लिए इसी तरह की अफवाह का सहारा लिया गया। हालांकि इस षडयंत्र की भी जल्द ही हवा निकल गई।

नुकसान को लाभ में बदलने
की फिराक में हैं सटोरिए

आगरा। पुरुषोत्तम खंडेलवाल के खिलाफ हुई साजिश को भले ही बेअसर कर दिया गया है, लेकिन सटोरियों का एक वर्ग ऐसा भी है जो इसे मौका मानकर कमाई करने के रूप में देख रहा है। सटोरियों का यह ग्रुप इस अफवाह को हवा देने की कोशिश कर रहा है।
जानकार सूत्रों ने बताया कि सट्टा बाजार में पुरुषोत्तम खंडेलवाल को लेकर किसी प्रकार के सौदे नहीं हो रहे हैं। उनका जीत का भाव दो पैसे से भी नीचे जा चुका है। चुनाव के प्रारंभ में कुछ सटोरियों ने पुरुषोत्तम की हार-जीत को लेकर जो सौदे किए थे, उसमें वे फंस चुके हैं। अपनी फंसी रकम को रिकवर करने के लिए सटोरिए बीते कल से माहौल बिगाड़ने के प्रयास को अच्छा अवसर मानकर इसे हवा देने में लगे हुए हैं।

सट्टा माफिया ने विपक्षी नेता संग
बुना था साजिश का ताना-बाना

आज सुबह से आपत्तिजनक नारों के पर्चे बांटे जा रहे हैं

आगरा। चुनाव के अंतिम दौर में भड़काऊ बातें कर भाजपा प्रत्याशी पुरुषोत्तम खंडेलवाल के खिलाफ माहौल बनाने की साजिश बीते गुरुवार को सुबह तैयार हुई थी। इसके पीछे सट्टा कारोबार से जुड़ा एक माफिया है। बताते हैं कि ये सट्टा माफिया उम्मीदवारी घोषित होने के बाद से ही पुरुषोत्तम खंडेलवाल के नजदीक आने की कोशिश में लगा हुआ था। माफिया ने पुरुषोत्तम खंडेलवाल को चुनाव में आर्थिक सहयोग देने की पेशकश भी की थी, लेकिन पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने उनकी पेशकश को ठुकरा दिया था। दरअसल सट्टा माफिया को उम्मीदवारी घोषित होने के बाद से ही पुरुषोत्तम खंडेलवाल से भय बना हुआ था क्योंकि पूर्व में पुरुषोत्तम इस माफिया तंत्र का विरोध करते रहे हैं।
अभी तक की छानबीन से मिली जानकारी के अनुसार पुरुषोत्तम खंडेलवाल के नजदीक आने में विफल रहने पर एक प्रमुख सट्टा माफिया ने गैर भाजपा दल के एक अल्पसंख्यक नेता के साथ बैठक कर यह ताना-बाना बुना कि कैसे पुरुषोत्तम खंडेलवाल के लिए मुश्किल पैदा की जाए। इसी बैठक में तय हुआ कि फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर ऐसी पोस्ट डाली जाए जिससे कि समाज विशेष के लोग भड़क जाएं और वोट न डालने जाएं। इस वर्ग के वोट भाजपा को ही मिलते हैं। इसी बैठक में कुछ आपत्तिजनक नारे बनाकर इनकी फोटोस्टेट प्रतियां भी बड़े पैमाने पर वितरित करने की योजना भी बनी। गुरुवार को सुबह बैठक में साजिश का ताना-बाना बुना गया और इसी दिन रात 12 बजे फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट डाली गई। जानकारी मिली है कि षडयंत्र के अगले चरण में आज सुबह से आपत्तिजनक नारों वाले कागजों की फोटोस्टेट प्रतियां वितरित की जा रही हैं।

साजिश को लेकर योगी सरकार गंभीर

आगरा। आगरा उत्तर के भाजपा प्रत्याशी पुरुषोत्तम खंडेलवाल का खेल बिगाड़ने के लिए सट्टा माफिया ने विपक्षी दल के साथ मिलकर जो ताना-बाना बुना था, वह उसे बहुत महंगा पड़ सकता है। अपने प्रत्याशी के खिलाफ हुई साजिश की जानकारी मिलने पर प्रदेश की भाजपा सरकार और भाजपा के प्रदेश संगठन ने बहुत गंभीर रुख अपनाया है। सरकार के दखल के बाद शासन के वरिष्ठ अधिकारी इस मामले की तह तक जाने के लिए आगरा के पुलिस प्रशासन को कड़े निर्देश दे चुके हैं। शासन के दखल के बाद स्थानीय अधिकारी भी मामले को लेकर बहुत गंभीर हो गए हैं। संकेत हैं कि पुलिस जल्द ही इस साजिश का खुलासा कर इसमें शामिल लोगों के खिलाफ साइबर अपराध के तहत कड़ी कार्रवाई कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *