आज की खबर आज
Agra

मालगोदाम मार्ग के लिये नई कवायद

विद्युत विभाग का पूर्व में चिन्हित भूमि देने से इंकार, पर दूसरी देने को तैयार

  • यमुना ब्रिज पर वैकल्पिक मार्ग के लम्बे समय से चल रहे प्रयास
  • नेशनल चैम्बर के साथ बातचीत में एमडी का सकारात्मक रुख

आगरा। यमुना ब्रिज रेलवे स्टेशन के मालगोदाम से ट्रकों की आवाजाही के लिये नये वैकल्पिक मार्ग की कवायद फिर से करनी पड़ रही है। पूर्व में सुझाये गये मार्ग में राज्य विद्युत विभाग की जमीन बीच में पड़ रही थी, शुरुआत में विद्युत विभाग इस जमीन को वैकल्पिक मार्ग के लिये देने पर विचार कर रहा था, लेकिन अब यहां विद्युत गोदाम बनाने का निर्णय ले लिया गया है।
दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम ने इस बारे में रेलवे को भी अवगत करा दिया है। गौरतलब है कि इस भूमि से जुड़ने वाली अपने हिस्से की जमीन पर रेलवे ने सड़क लगभग तैयार करा चुका है, मैदान के समतलीकरण और मिट्टी-गिट्टी आदि डलने के बाद केवल डाबरीकरण शेष है।
विद्युत विभाग के इस निर्णय से वैकल्पिक मार्ग के लिये प्रयासरत नेशनल चैम्बर आॅफ इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स के पदाधिकारियों को हल्का झटका लगा है। उनके लिये राहत की बात इतनी है कि विद्युत विभाग ने इस स्थान के बदले निकट की अपनी एक-दो अन्य जगहों को देने का सुझाव दिया है।
नेशनल चैम्बर के प्रतिनिधिमंडल ने पिछले दिनों डीवीवीएनएल के प्रबंध निदेशक से मुलाकात करके इस बारे में चर्चा की थी। चैम्बर के पदाधिकारियों का कहना था कि वे भूमि पर कोई कब्जा नहीं चाहते हैं, विद्युत विभाग अपना मालिकाना हक बरकरार रखते हुए केवल वहां से ट्रकों की आवाजाही की अनुमति दे दे। वैकल्पिक मार्ग बनने से न केवल क्षेत्र में रोजाना लगने वाले ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी, बल्कि एत्माद्दौला स्मारक को वाहनों से होने वाले प्रदूषण से बचाया जा सकेगा।
इस मामले में प्रबंधक निदेशक का सकारात्मक रुख रहा। उन्होंने इस बारे में प्रक्रिया पूरी करने के लिये अधिशासी अभियंता को जिम्मेदारी सौंप दी। अधिशासी अभियंता चैम्बर के प्रतिनिधियों के साथ मालगोदाम के निकट स्थित भूमि का दौरा कर चुके हैं, यहां उपलब्ध भूमि के दो-तीन टुकड़ों में से किसी एक पर सड़क बनाने पर सहमति बन सकती है। इसके लिये चैम्बर के पदाधिकारियों को अपना अंतिम सुझाव देना है। चैम्बर पदाधिकारी कल शुक्रवार को क्षेत्र का दौरा करके सहूलियत को समझने का प्रयास करेंगे।
गौरतलब है कि वर्तमान में शिल्पग्राम के सामने करीब एक हजार मीटर भूमि पर विद्युत विभाग का स्टोर बना हुआ है। यहां प्रदेश सरकार द्वारा मुगल म्यूजियम तैयार कराया जा रहा है। इसके लिये विद्युत विभाग को यह भूमि खाली करके अपना स्टोर स्थानांतरित करना है। विभाग ने इसे एत्माद्दौला क्षेत्र में स्थित अपनी भूमि पर स्थानांतरित करने का निर्णय लिया है।

मुगल म्यूजियम का काम प्रभावित
विद्युत विभाग द्वारा राजकीय निर्माण निगम को एक हजार वर्ग मीटर जमीन हैंडओवर नहीं किये जाने से मुगल म्यूजियम का काम प्रभावित हो रहा है। शिल्पग्राम के निकट विद्युत विभाग की सीमेंटेड पोल फैक्ट्री की जमीन पर उप्र पर्यटन द्वारा मुगल म्यूजियम बनवाया जा रहा है। स्टेट आॅफ द आर्ट प्रोडक्ट के रूप में बन रहे म्यूजियम में आठ आॅडियो-वीडियो गैलरी बनाई जाएंगी, जिसमें भ्रमण करने वाले सैलानियों को इतिहास व संस्कृति की जानकारी मिलेगी। म्यूजियम का काम सितंबर तक पूरा किया जाना है, लेकिन विद्युत विभाग की वजह से इसमें विलंब हो सकता है। विद्युत विभाग ने पूर्व में 30 अप्रैल तक जमीन हैंडओवर करने की बात कही थी, लेकिन अभी इस दिशा में पहल नहीं हुई है। एत्माद्दौला क्षेत्र में स्टोर बनते ही विद्युत विभाग यह जगह राजकीय निर्माण निगम को हैंडओवर कर देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *