आज की खबर आज
Agra

चुनाव प्रक्रिया पूरी होते ही लगेगा महंगाई का झटका!

  • सरकारी दबाव में अभी दाम नहीं बढ़ा रहीं तेल कंपनियां
  • रोजमर्रा की वस्तुओं की कीमतों का ग्राफ बढ़ना आरम्भ

आगरा। राष्टÑीय स्तर पर बढ़ रही थोक महंगाई दर का असर रोजमर्रा की वस्तुओं पर दिखने लगा है। दाल-चावल, गेहूं, खाद्य तेलों के साथ साग-सब्जियों के दामों में निरंतर बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों की प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही जनता को महंगाई के बड़े झटके का सामना करना पड़ सकता है। इसका एक बड़ा कारण चुनावों के दौरान पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित रखा जाना है।
वैसे तो देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें तेल कंपनियों द्वारा नियंत्रित की जाती हैं। अंतर्राष्टÑीय बाजार में उतार-चढ़ाव के साथ कीमतों में घटा-बढ़ी होती रहती है, लेकिन चुनावों के दौरान जनता को राहत देने के लिये अप्रत्यक्ष रूप से सरकारों का दबाव इन तेल कंपनियों पर रहता है। यही कारण है कि पिछले दो महीने में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में विशेष अंतर देखने को नहीं मिला है, जबकि अंतर्राष्टÑीय स्तर पर कच्चे तेल का संकट बढ़ा है।
विशेषज्ञों का मानना है कि चुनाव प्रक्रिया पूरी होते ही तेल कंपनियों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में खासा इजाफा किया जा सकता है और इसका सीधा असर माल-ढुलाई पर पड़ेगा और भाड़ा महंगा हो जाएगा। भाड़ा महंगा होने रोजमर्रा वस्तुओं की कीमतों में भी इजाफा होना तय है।
हालांकि कई खाद्यान्नों में धीमी गति से दामों का बढ़ना जारी है। दालों की कीमतों में दस से बीस रुपये प्रति किलोग्राम की वृद्धि हो चुकी है। गेहूं की कीमतों में भी दो सौ रुपये प्रति कुंतल की बढ़ोत्तरी हो चुकी है। 30-32 रुपये किलो बिक रही चीनी का दाम भी 36 रुपये किलो पहुंच चुके हैं। तेल-घी की बात करें तो रिफाइंड या सरसों के तेल के सभी ब्रांडों में तेजी का रुख है। देशी घी के दाम भी बीस से तीस रुपये प्रति किलो बढ़ चुके हैं। आलू-प्याज आदि कुछेक सब्जियों को छोड़ दें तो अन्य के दामों में वृद्धि जारी है। फलों के दाम भी बढ़े हुए हैं।
मुश्किल यह है कि इस बढ़ोत्तरी में निकट भविष्य में राहत दिखने की उम्मीद नजर नहीं आ रही है। व्यापारियों का कहना है कि यदि ढुलाई भाड़ा बढ़ा तो रोजमर्रा की अधिकांश वस्तुओं में तेजी आना तय है। इससे महिलाओं की रसोई का बजट बिगड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *