आज की खबर आज
Agra

गंगाजल: प्लांट चलाना ही भूल गये अधिकारी

  • सिकंदरा में 24 घंटे तक बंद रहा डब्ल्यूटीपी
  • करीब आधे शहर की जलापूर्ति रही प्रभावित
  • भोगीपुरा में मरम्मत के लिए कराया था बंद

शहर में वैसे ही जल संकट है, ऊपर से जल संस्थान के अफसरों की लापरवाही इसे बढ़ावा दे रही है। बीते कल तो लापरवाही की हद हो गयी। सिकंदरा में गंगाजल वाले डब्ल्यूटीपी को चलाना ही अधिकारी भूल गये। वो 24 घंटे तक बंद रहा है। इससे करीब दर्जन भर जेडपीएस की जलापूर्ति प्रभावित हो गयी थी।
ज्ञातव्य है कि शाहंगज के भोगीपुरा में पुलिस चौकी के पास वर्षों पुरानी लीकेज की समस्या को दूर करने के लिए पाइप लाइन की मरम्मत का कार्य शुरू हुआ था, जो मंगलवार की शाम तक पूरा हो गया था। बता दें कि मरम्मत के दौरान पानी का प्रेशर कम करने के लिए सिकंदरा में गंगाजल वाले प्लांट को बंद कर दिया गया था। मरम्मत का कार्य पूरा होने के बाद कंकरीट को सेट करने के लिए जितना वक्त चाहिए था वो भी निकल गया। जल संस्थान के अधिकारी भूल गये कि उन्हें बंद प्लांट को चालू करवाना है, जिससे गंगाजल की आपूर्ति शुरू हो सके। बुधवार की सुबह निकली और दोपहर निकल गयी। सूत्रों की मानें तो शाम को जब जलापूर्ति की बात चली तो अधिकारियों को गंगाजल वाले प्लांट की याद आयी। आनन-फानन में प्लांट को चालू किया गया। प्लांट करीब 24 घंटे तक बंद रहा। इससे बुधवार को सुबह और शाम को होने वाली जलापूर्ति प्रभावित हो गयी। अकेला एमबीबीआर प्लांट चल रहा था। उससे केवल करीब 72 एमएलडी यमुना जल की जलापूर्ति मिल रही थी, 1600 और 1200 एमएम की राइजिंग मेन में दोनों प्लांटों से 140-150 एमएलडी पानी मिल रहा है, जिसकी जलापूर्ति होती है। बता दें कि जलापूर्ति प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में लॉयर्स कॉलोनी, संजय प्लेस, लोहामंडी, शाहंगज, केदार नगर, आवास विकास कॉलोनी आदि क्षेत्र शामिल रहे। जलापूर्ति प्रभावित रहने से लाखों लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

‘भोगीपुरा पुलिस चौकी के पास पाइप लाइन की लीकेज की मरम्मत का कार्य हुआ था। कंकरीट को सेट करने के लिए छह-सात घंटे तक कम प्रेशर से पानी चला था। एमबीबीआर प्लांट से जलापूर्ति दी गयी थी। बाद में गंगाजल वाला भी प्लांट चालू कर दिया गया था।’
आरएस यादव, महाप्रबंधक, जल संस्थान

फिर हुई पानी की समस्या

आगरा। बोदला चौराहे के पास फटी 1200 एमएम की पाइप लाइन के कारण करीब डेढ़ लाख की आबादी ने जल संकट को झेला था। नलों से पानी आना शुरू हुआ तो लोग के चेहरे खिल उठे, लेकिन एक-दो दिन में ही हजारों लोगों के लिए फिर से पानी की समस्या उत्पन्न हो गयी। भाजपा पार्षद राहुल चौधरी ने बताया कि शंकरगढ़ की पुलिया के पास से पाइप लाइन में लीकेज हो गयी। इससे बालाजीपुरम्, शंकरपुरी, अलबतिया आदि क्षेत्रों में पानी की समस्या हो गयी है। लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में पाइप लाइनों के लीकेज की समस्या बढ़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *