आज की खबर आज
Agra

हाईवे: निर्माण कार्य पूरा होने तक छाया रहेगा यहां अंधेरा!

  • नगर निगम सीमा में अधिकांश स्ट्रीट लाइटें रहती हैं बंद
  • एडीए ने करीब सोलह सौ स्ट्रीट लाइटें की हैं हैंडओवर

आप रात के समय हाईवे पर शहर की सीमा में चल रहे हैं तो अंधेरे में चलने की आदत डाल लीजिए। यहां की बंद स्ट्रीट लाइटों से रोशनी होने में अभी वक्त लगेगा। हाईवे का निर्माण कार्य पूरा होने तक स्ट्रीट लाइटें यूं ही रहेंगी। नगर निगम भी चुप्पी साध गया है। हाईवे पर अंधेरा होने के कारण राहगीरों को रात में सफर तय करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।
ज्ञातव्य है कि हाईवे पर सिक्स लेन निर्माण का कार्य चल रहा है। हाईवे पर नगर निगम सीमा कैलाश मोड़ (सिकंदरा) के पास से छलेसर तक है। सीमा में हाईवे पर कई फ्लाईओवर और अंडरपास हैं। कईयों पर तो कार्य चल रहा है। वैसे तो आगरा विकास प्राधिकरण ने करीब तीन हजार स्ट्रीट लाइट्स हाईवे पर लगाई थीं। इनमें नगर निगम सीमा में करीब सोलह सौ स्ट्रीट लाइट्स हैं, जो प्राधिकरण ने निगम को हैंडओवर कर दी हैं। अब इनकी देख-रेख की जिम्मेदारी नगर निगम की है। ये स्ट्रीट लाइटें सोडियम थीं, जिन्हें नगर निगम बदलकर एलईडी लगा रहा है। काफी संख्या में एलईडी लाइट्स लग चुकी हैं।
बता दें कि हाईवे पर कुछ स्ट्रीट लाइट्स को छोड़कर अधिकांश बंद रहती हैं, जिसके कारण रात में राहगीरों को चलने में परेशानी होती है। कई स्थानों पर हाईवे खुर्द-बुर्द है तो कहीं फ्लाईओवर और अंडरपास निर्माण का कार्य चल रहा है। इसके कारण सड़कें संकरी हो गई हैं। कई स्थानों पर ट्रैफिक वन-वे की जगह टू-वे कर दिया गया है। यमुनापार क्षेत्र में तो खुर्द-बुर्द सड़क पर ही ट्रैफिक टू-वे है। यहां हाईवे सबसे ज्यादा डरावना है। रात के समय तो डर और बढ़ जाता है, अंधेरा जो रहता है।
नगर निगम के मुख्य अभियंता (वि/यां) संजय कटियार ने बताया कि एडीए की करीब 1600 स्ट्रीट लाइट्स निगम को हैंडओवर हुई हैं। सोडियम लाइटों को बदला जा रहा है। उनके स्थान पर एलईडी लाइट्स लगाई जा रही हैं। इन लाइटों के बंद होने का कारण फ्लाईओवर और अंडरपास का निर्माण कार्य है। खुदाई के कारण स्ट्रीट लाइट्स की केबिल क्षतिग्रस्त हो गई है, जिससे लाइट्स बंद पड़ी हैं। इनकी मरम्मत के लिए कार्य शुरू किया गया था, लेकिन एनएचएआई के अधिकारियों ने मना कर दिया। उनका कहना है कि अभी सिक्स लेन का कार्य चल रहा है। टूट-फूट होती रहेगी। कार्य पूरा होने के बाद प्रकाश व्यवस्था को दुरुस्त कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *